ब्रेकिंग न्यूज़
अन्य प्रदेश ब्रेकिंग न्यूज़ राजनीति

ममता के बाद चुनाव हारने वाले 4 TMC नेताओं ने भी कलकत्ता हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया, चुनाव प्रक्रिया में धांधली का आरोप

कोलकाता

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के बाद बंगाल विधानसभा चुनाव हारने वाले 4 और तृणमूल कांग्रेस नेताओं ने कलकत्ता हाईकोर्ट में याचिकाएं लगाई हैं। इनमें चुनाव प्रक्रिया में धांधली का आरोप लगाया गया है और परिणाम की समीक्षा की मांग की गई है।

याचिका दायर करने वाले नेताओं में अलोरानी सरकार, संग्राम कुमार दोलाई, मानस मजूमदार और शांतिराम महतो शामिल हैं। इन सभी को विधानसभा चुनाव में भाजपा कैंडिडेट्स के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा था। इन याचिकाओं को हाईकोर्ट की अलग-अलग बेंच ने शुक्रवार को सुना और मामले को अगली सुनवाई तक के लिए टाल दिया।

4 मामलों की सुनवाई में क्या हुआ

  • अलोरानी सरकार: सरकार ने बोनगांव विधानसभा सीट से चुनाव लड़ा था। इन्हें भाजपा के स्वपन मजूमदार ने 2008 वोट से हराया था। सरकर ने मजूमदार पर शैक्षणिक योग्यता का फर्जी प्रमाण-पत्र लगाने का आरोप लगाया है। जस्टिस बिबेक चौधरी की बेंच ने मजूमदार को 2 हफ्ते में एफिडेविट पेश करने को कहा है। अगली सुनवाई 16 जुलाई को होगी।
  • संग्राम कुमार दोलाई: दोलाई को मोयना विधानसभा सीट पर भाजपा के अशोक डिंडा के खिलाफ 1260 वोट से हार झेलनी पड़ी थी। दोलाई ने मतगणना में धांधली का आरोप लगाते हुए रिजल्ट को फिर से रिव्यू करने की मांग की है। जस्टिस तीर्थांकर घोष ने मामले की अगली सुनवाई 25 जून को तय की है।
  • मानस मजूमदार: मजूमदार ने गोघाट विधानसभा सीट पर TMC के टिकट पर चुनाव लड़ा था। उन्हें भाजपा के बिश्वनाथ करक के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा था। मजूमदार ने आरोप लगाया है कि करक ने नामांकन के दौरान पेश किए गए एफिडेविट में अपराधिक प्रकरण छिपाए। जस्टिस सवर घोष ने मामले की अगली सुनवाई 9 जुलाई तय की है।
  • शांतिराम महतो: शांतिराम को बलरामपुर विधानसभा सीट से भाजपा के बनेश्वर महतो ने हराया था। उनकी हार का अंतर 423 वोटों का था। जस्टिस शुभाशीष दासगुप्ता ने मामले की सुनवाई की और अगली तारीख 15 जुलाई तय की।

ममता ने 17 जून को लगाई थी याचिका
नंदीग्राम सीट से चुनाव हारीं मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पहले ही भाजपा प्रत्याशी और विपक्ष के नेता शुभेंदु अधिकारी की जीत के खिलाफ कलकत्ता हाईकोर्ट पहुंच चुकी हैं। ममता ने नंदीग्राम में पूरी चुनाव प्रक्रिया को चुनौती देते हुए हाईकोर्ट में याचिका दायर की है। इस पर 17 जून को कोर्ट ने सुनवाई की और मामले को 24 जून तक के लिए टाल दिया।

बंगाल में 8 चरणों में हुए चुनाव के बाद 2 मई को रिजल्ट आए थे। इसमें सबकी निगाहें राज्य की हॉट सीट नंदीग्राम पर थी। यहां भाजपा प्रत्याशी और कभी ममता के खास रहे शुभेंदु अधिकारी ने रोमांचक मुकाबले में उन्हें 1956 वोटों से हरा दिया था। यह इस बार के चुनाव का सबसे बड़ा उलटफेर है।

संबंधित पोस्ट

BREAKING..एमपी 12वीं बोर्ड परीक्षा भी रद्द:CBSE के बाद शिवराज सरकार का फैसला; रिजल्ट तैयार करने का तरीका एक्सपर्ट्स से पूछा जाएगा

Khabar 30 din

अफगान-तालिबान शांति वार्ता आज से:अमेरिका के विदेश मंत्री पोम्पियो दोहा पहुंचे, विशेष दूत खलीलजाद ने कहा- दोनों पक्षों के लिए परीक्षा का समय

Khabar 30 din

कोविड-19: तीन लाख से कम नए मामले आए, 281,386 नए केस दर्ज और 4,106 लोगों की मौत

Khabar 30 din

अनशन पर अफसर:कन्या विवाह और रेडी-टू-इट योजना में 30 लाख रु. का घोटाला, कलेक्टर ने कार्रवाई नहीं की तो धरने पर बैठे महिला एवं बाल विकास अधिकारी

Khabar 30 din

बघेल के पूरे हो रहे ढाई साल, सिंहदेव की दावेदारी की चर्चा: कृषि मंत्री चौबे बोले- CM पद पर ढाई साल का कोई फॉर्मूला नहीं

Khabar 30 din

हरियाणा: मुख्यमंत्री ने कोविड फंड से क़रीब 3 करोड़ के पतंजलि उत्पादों की खरीद को मंज़ूरी दी

Khabar 30 din